Food

आज देश में गौ माता की जो दुर्दशा हो रही है उसके लिए मानव मात्र ही दोषी - पं. अभिषेक जोशी

आज देश में गौ माता की जो दुर्दशा हो रही है उसके लिए मानव मात्र ही दोषी - पं. अभिषेक जोशी

प्रतिष्ठा महोत्सव की लेकर आज निकलेगी कलश यात्रा

बालोतरा- समीपवर्ती जसोल कस्बे में श्री राणी भटियाणी मन्दिर संस्थान द्वारा नवनिर्मित श्री सवाईसिंहजी, श्री लालबन्नासा, श्री बायोसा,  श्री खेतलाजी व श्री भेरूजी के मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर शुरू हुई नौ दिवसीय श्रीराम कथा के चौथे दिन भगवान श्री राम के प्राकट्योत्सव व बाल लीलाओं का वर्णन किया । 


कथा व्यास पंडित अभिषेक जोशी ने रामकथा का महत्व बताते हुए कहा कि राम कथा त्याग एवं संयम सिखाती है। वर्ग भेद एवं वर्ण भेद परस्पर द्वेष ईर्ष्या को मिटाने वाला सद ग्रंथ है। प्रभु भक्ति के द्वारा बुद्धि को निर्मल कर सकते हैं । श्री राम कथा जनमंगल का संदेश देती है। उन्होंने कहा कि दुनिया मोह जाल के चक्कर में अपना सबकुछ भुलकर धन, ऐश्वर्य की ओर भागता है। असली सुख आत्म संतुष्टि से ईश्वर अराधना करने पर प्राप्त होती है। मनुष्य पृथ्वी पर गौ माता धर्म को अपनाकर रक्षक बने। उन्होंने कहा कि आज देश में गौ माता की जो दुर्दशा हो रही है उसके लिए मानव मात्र ही दोषी है। हमारे लिए सबसे पूजनीय गौ माता को माना गया है। मगर इसके प्रति मनुष्य संवेदनशील नहीं है। गौ माता हमारी संस्कृति का प्रतीक है। मन्दिर प्रबंधन कमेटी सदस्य फतेहसिंह ने बताया कि शनिवार को मन्दिर प्रांगण में श्री गणेश पूरी महाराज वरिया के सानिध्य में पंडित मनोहर लाल अवस्थी द्वारा कन्या पूजन करवाया गया। जिसमें कन्या पूजन व भोजन प्रसादी का लाभार्थी परिवार श्री  वालाराम चौधरी, शैतान सिंह व नेपाल सिंह दांखा ने लिया। 


 इस दौरान सुरजभान सिंह दाखा, बाबुलाल जाट, उमेश कुमार,  अशोक कुमार जाट, प्रकाश प्रजापत, राजेश भाई पंजाबी, गुलाबसिंह डंडाली, मुलतान माली, गोविंद शर्मा, यश कौशल, सुमेरसिंह भाटी, सवाईसिंह भाटी, उदयसिंह डंडाली सहित सर्वसमाज के कार्यकर्ता मौजूद रहे। रामकथा का प्रसारण केवल ऑनलाइन माध्यम से किया जा रहा है। भक्त मन्दिर के सोशल साइट्स फ़ेसबुक, यूट्यूब के साथ एसएम केबल व डीसीएन केबल टीवी नेटर्वक के जरिए इसका लाभ ले सकते हैं।


इन मार्गो से निकलेगी कलश यात्रा-

जसोल धाम में प्रतिष्ठा कार्यक्रम को आयोजित होने वाली कलश यात्रा 9 बजे श्री राणी भटियाणी मन्दिर से रवाना होकर, मुख्य बस स्टैंड, आजाद चौक, जोशियों का वास, प्रजापतों का वास, बड़ला चौक, होली चौक, नर्बदेश्वर महादेव मंदिर तालाब पहुंचेगी। वँहा से तालाब रोड होते हुए होली चौक, अरिहंत विद्यालय होते हुए मन्दिर प्रगाण पहुंचेगी।